प्रतीकात्मक तस्वीर

सीएआईटी के बैनर तले देश का व्यापारी वर्ग चीन को इस साल के दिवाली फेस्टिवल सीजन पर लगभग 40 हजार करोड़ रुपये का एक बड़ा झटका देने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। भारत में दिवाली त्यौहार के मौसम पर लगभग 70 हजार करोड़ का व्यापार होता है।

  • Information18Hindi
  • आखरी अपडेट:18 अक्टूबर, 2020, 5:05 अपराह्न आईएसटी

नई दिल्ली। देशभर में इस साल की दिवाली को हिन्दुस्तानी दिवाली के रूप में मनाने के मनाली भारत की दुकानों (CAIT) के आव्हान को देश के कोने-कोने में ले जाने के लिए कैट ने व्यापक स्तर पर लगभग सभी तैयारियों को पूरी तरह से किया है। कैट के बैनर तले देश का चरित्र वर्ग चीन को इस साल के दिवाली फेस्टिवल सीजन पर लगभग 40 हजार करोड़ रुपये का एक बड़ा झटका देने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। कैट के इस अभियान को देशभर के कारोबारियों का समर्थन मिल रहा है। जहां व्यापारियों ने चीनी सामान को नहीं बेचा का संकलप लिया है, तो वहीं दूसरी ओर देशभर में लोग चीनी सामान को खरीदने के मूड में बिलकुल भी तैयार नहीं दिख रहे हैं।

70 हज़ार करोड़ में से चीन की 40 हज़ार करोड़ की हिस्सेदारी है
कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने आज यहां मीडियो को संबोधित करते हुए कहा कि जारी एक संयुक्त उद्यम में बताया की प्रति वर्ष भारत में दिवाली त्यौहार के मौसम पर लगभग 70 हजार करोड़ का व्यापार होता है। जिसमें सोने चांदी, अटारी जैसे महंगे रिटेल व्यापार भी शामिल हैं। इस 70 हजार करोड़ के व्यापार में लगभग 40 हजार करोड़ रुपये का सामान बीते वर्षों में चीन से आयात होता रहा है।

यह भी पढ़ें: नवरात्र विशेषण: देश में यहां होता है माता रानी की लाल चुनरी और पोशाक का करोड़ों रुपये का कारोबारलेकिन इस साल जून में जिस तरह से चीन ने 20 भारतीय जवानों को निर्दयता के साथ मारा है उसको लेकर देश के सभी वर्गों में चीन को लेकर खासा गुस्सा और आक्रोश है। जिसके चलते लोग चीन का सामान न खरीदने का मन बनाये हुए बैठें हैं। देशभर में मार्कर कैट के “भारतीय सामान-हमारा अभिमान” और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “लोकल पर वोकल और आत्मनिर्भर भारत” को जमीनी स्तर तक सफल बनाने में भारतीय सामानों को प्रमुखता से बेचे जाने के लिए स्टॉक का संग्रह रहा है।

यह भी पढ़ें: आपके पास भी ये वाला ₹ 10 का नोट है तो आज ही मिलेंगे 25 हजार, घर बैठे बैठे ये काम

कैट बोला- दीवाली पर सबसे ज्यादा बिकते हैं ये सामान
भरतिया और प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की दिवाली के त्यौहारी सीजन में वैसे तो हर वर्ग का चरित्र अपनी तैयारी कर रहा है, लेकिन ख़ास तौर पर मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक और साहित्य संबंधी सामान, खिलौने, होम फर्निशिंग, किचेन एक्सेसरीज, गिफ्ट आइटम, घड़ियाँ, रेडीमेड कपड़े , फैशन के कपडे, फुटवियर, जिस्मिक्स, ब्यूटी प्रोडक्ट्स, फर्नीचर, एफएमसीजी प्रोडक्ट्स, कंसुमर ड्युरेबल्स, ऑफिस स्टेशनरी, दिवाली की पूजा और दिवाली पर घर, दुकान, ऑफिस सजाने की दिवाली का सामान आदि बड़ी मात्रा में बिकने की संभावना है।



Supply hyperlink

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *